Sad Shayari

Sad Shayari , Sad Shayari in Hindi Font, Hindi Sad Shayari, New Sad Shayari 2018, Best Sad Shayari for 2018, Latest Sad Shayri in hindi, Sad Shayari for Love, Lover, Life, Girlfriend Boyfriend, GF BF, Husband WIfe, Him Her, Friends, Sadness, Heart Break Shayari, Dard Shayari, Sad Shayri. , sad shayari

17 Jun

कुछ कहना चाह रही थी

आज वो फिर नज़र आयी
धुंधलाती सी तस्वीर में
रंगों की रंगत ने
जैसे करामात दिखलाई
आज कुछ नया सा एहसास है
उसके हाथों में फिर मेरा हाथ है
लकीरों को खिंचने की चाहत लिए
वो खिलखिलायी
और वो हमारे करीब आयी
नदियों की धारा को लिए
वो बहती ही जा रही थी
धीरे धीरे आँखों में उसकी
शर्म सी छा रही थी
शायद
शायद वो
कुछ कहना चाह रही थी
आज वो हमें फिर से अपना
बना रही थी

17 Jun

तन्हाइयों क दौर पे दौर

मैं उनको निहारती रही
और वो उसको
मैं उनको बुलाती रही
और वो मिलते रहे उसको
तमन्ना तो मेरी भी थी
की वो मुझे अपना कहते
दर्द को मेरे वो रुसवा करते
तन्हाइयों क दौर पे दौर
गुजर गए
और हम यहाँ खड़े उन्हें
टकते ही रह गए
सिसक इन साँसों की
बयान कैसे करती
अपने इस जख्म को
भला कैसे सहती

17 Jun

Lonely Lonely

कितने lonely lonely रहते हैं
तेरे बिना
कर ले यकीन जो भी हम कहते है
ए मेरी हिना
तेरे लबों पे ख़ामोशी
हम क्यूँ सहें
पानी बिन सागर
भला कैसे रहे
तड़प रहे हैं पल पल
कैसे कहें
बन पानी आँखों से तुम्हारी
हम यूँ बहें
की होश में ना तुम रहे
ना हम रहे

17 Jun

पर मलाल है

अकसर जाने अनजाने में

बह जाते हैं

गुजरे तरानों में

उन बीते अफ्सानो में

जो कहानी कोई

बयान नहीं कर सकता

वो फूल जिससे हर किसी

का आँगन है महकता

मत पूछों यारों

उस ओर का रास्ता

क्यूंकि बचपन

हमारा भी कुछ ख़ास था

पर मलाल है क्यूँ

तू मेरे साथ ना था

15 Jun

अब हार पे मुस्कुराना भी आ जायेगा

अब हार पे मुस्कुराना भी आ जायेगा
तेरे प्यार में रहे तो खिलखिलाना भी आ जायेगा
मुश्किलों से भला हम क्यूँ डरें
तेरा साथ मिला है जब से
आँखों में नए नए सपने से हैं भरे
आसान हो गया है अब जीना
वो वक़्त पीछे छुटा
जब रखना होता था होठों को सीना
अब गुनगुनाने में दिल बहल जाता है
तुम पास हो ना हो
जिक्र तुम्हारा खुद ही से हो जाता है
तेरे आने की दस्तक सुनते ही
दिन कब कैसे
इंतज़ार में तुम्हारे
हाथों से फिसल सा जाता है
अब तो तुमसे मिलके ही
यह दिल सुकयन को पाता है
कई दफा तनहा रातों में
तुम्हारी हसरत में
यह मन मचल भी जाता है
अब तो बहती हवाओं की धुन में भी
नाम तुम्हारा ही सुनने को
जी चाहता है

15 Jun

संभाला तुम्ही ने अपने आँचल में

मेरी हर हार के बाद
आयी तेरे होठों पे मुस्कान
मेरे सूखे प्याले में भर जाए
खुशियाँ कुछ ऐसे थे मेरे अरमान
हाँ में था नादान
मुझे इल्म ही न था
तू ही है मेरी सच्ची कदरदान
संभाला तुम्ही ने अपने आँचल में
बाँधा मेरी हर बूँद को बरसाती बादल में
इस दफा कुछ ऐसा बरसयूँगा
हारू या जीतू मैं बस झुमुँगा

13 Jun

वाह रे हम वाह रे हमारे दीवाने

यहाँ की कहें तो वो बुरा माने |
हमारी कहो तो हम बुरा माने |
पीछे से कौन क्या कहें ,
हम क्या जाने |
सामने सब अपना माने |
हम क्या चाहे हम ना जाने |
दुनिया क्या चाह वो हम माने |
फिर भी सबसे बेहतर कहलाना चाहे|
कुछ अलग ना करे पर खुद को
औरों से अलग जाने |
वाह रे वाह रे हमारे दीवाने|

देश भक्ति कविता इन हिंदी
13 Jun

शहीदों को नमन

आज फिर हम तेरे लिए गायेंगे |
वो गीत फिर से गुनगुनायेंगे |
कुछ पल को हम शायद,
खुद को भी भूल जायेंगे |
आजादी हो चाहे दो पल की |
यह बात है हमारी धडकनों की |
धुंधली पड़ती उलझनों की |
यह कहानी है उन दर्पणों की |
जहां मिट जाती हैं बातें सरहदों की |
शहीदों की शहादत को याद करती |
इस मिटटी के कण- कण की |
यह कहानी है , तुम्हारे – हमारे इस वतन की |