heart Tag

17 Jun

Lonely Lonely

कितने lonely lonely रहते हैं
तेरे बिना
कर ले यकीन जो भी हम कहते है
ए मेरी हिना
तेरे लबों पे ख़ामोशी
हम क्यूँ सहें
पानी बिन सागर
भला कैसे रहे
तड़प रहे हैं पल पल
कैसे कहें
बन पानी आँखों से तुम्हारी
हम यूँ बहें
की होश में ना तुम रहे
ना हम रहे

17 Jun

वक़्त कुछ ऐसा बदला

तुझसे मिलने में वो बात है
की भीगे मेरे ज़ज्बात हैं
एक ऐसा मुकाम जो
तेरे साथ साथ
हम पा गए
साथ मिला तेरा
और हम खुद को
खुद ही से हार गए
एक वक़्त था जब
खुदा से मिलने की खातिर
राहो को अपनी हम निहार रहे थे
वक़्त कुछ ऐसा बदला
हवा ने रूह कुछ यूँ पलटा की
हम जुल्फे तुम्हारी संवारने में
वक़्त अपना गुजार रहे थे

13 Jun

PUSHPA I HATE TEARS

कहना कुछ भी हम तो जी रहे हैं हर पल |
जानता कुछ नहीं स्वाभाव से थ वो सरल |
प्यार कब हमारे जीवन का हिस्सा हो गया |
उनका हर किस्सा मशहूर हो गया |
चन्द पलों म वो दास्तान यूँ बयान कर जाते थे |
हर तरफ खिलखिलाते चेहरे नज़र आते थे |
खुद पर जिसने ऐतबार ककया |
उसे खुदा ने कभी ना नज़रअंदाज़ किया |
काका की कहानी हमें तुम्हे सुनानी थी |
पहले सुपरस्टार की बात दोहरानी थी |
PUSHPA I HATE TEARS .
KAKA YOU ARE OUR DEAREST DEAR .

13 Jun

ये एहसास नया नया है

एहतियात बरतते हैं की रिश्ता नया नया है |
दो ज़हान के मिल ने का सिलसिला नया नया है |
पल भर को चैन नहीं य वक्त ज़ुदा ज़ुदा है |
खुद ही में सिमट जाने का |
दुनिया को भूल जाने का |
ये एहसास नया नया है |

13 Jun

तेरे बिना खुद को अधूरा पाया

तेरी खामोशियाँ जवाब हैं , उन सवालों का |
तेरी मजबूरियाँ जवाब हैं , उन सवालों का |
जो पूछ रही थी मेरी सुबह – शाम |
तरस आता है खुद पे याद करूँ ज वो शाम |
प्यार से तेरे सबूत मांग रहा था |
मासूमियत को तेरी लाचारी जान रहा था |
दुनिया को पहचाना तो तेरा ख्याल आया |
तेरे बिना खुद को अधूरा पाया |

13 Jun

ना जाने तुम कहाँ गए

हालातों के मद्देनज़र एक ख्याल आया |
किताबमें रखा बरसो पुराना गुलाब
जो नज़र आया |
दुनियादारी में हम क्या से क्या हो गए |
चाहते थे उन्हें और उन्ही से दूर हो गए |
अरमान फिर जाग रहे |
उन्हें अपने मान रहे |
वक्त से कदम मिलाते – मिलाते ,
तेरी आहतों को भुला गए I
होश जो आये तो पूछ रहे ,
ना जाने तुम कहाँ गए I

13 Jun

मेरा गुमान हो तुम

जीवन का आधार हो तुम |
मेरा गुमान हो तुम |
शुक्र है की मेरे पास हो तुम |
मेरी पहचान हो तुम |
जीने का अंदाज़ हो तुम |
खुद को बदल देंगे तुम्हारी खातिर |
एक बार कह जो दो तुम |

13 Jun

बातें तेरी इश्कानी

मैंने कही तुने मानी |
तेरे बिना जिंदगी बेमानी |
बातें तेरी इश्कानी |
महके जैसे रात की रानी |
हाथों में रख कर पानी |
तू सोचे बन जाऊ जल की रानी |
तेरी बातों की ही तरह |
तू तो है बहता पानी |

13 Jun

दीवानगी

तेरी दीवानगी की कोई हद नहीं |
हमारे प्यार की कोई सरहद नहीं |
प्यार के समंदर में डूबे दो दीवाने |
जिसकी कोई हद नहीं |

13 Jun

अब होश नहीं

पंख लगे हैं तबसे |
तुमसे मिले हैं जबसे |
होि में आन वाले हैं |
तुझ में खो जान वाले हैं |
सपनो की दुनिया से निकल ,
हकीकत को पीन वाले हैं |
वक्त हो गया है तेरे होठों से
अपन लबो को लगायेंगे |
हम तुम्हे फिर से
जन्नत का एहसास कराएँगे |