याद आते है आनंद

16 Jun याद आते है आनंद

Remembering Rajesh khana

Best bollywood shayari

प्यार के कश
लगाना कोई उनसे सीखे
इश्क के रंग उनके बिना
है जैसे फीके फीके
उनसा बनने की ख्वाहिश लिए
जाने कितने हुए
उनकी करवट लेती नज़रों के
दीवाने जाने
कितनी दफा घायल भी हुए
कहते हैं
इश्क फसानो में
इकक तरानों में
हमारी नज़रों में इश्क
बसता है उनकी अदाओं में
उनकी एक झलक
बसता है उनकी अदाओं में
उनकी एक झलक
जैसे जीने की ललक
ऐ दिल संभल
बड़ा मुश्किल है यह पल
18 जुलाई 2012 कर गया था
जाने कितने ही दिलो में हलचल
याद आते है आनंद
आज भी हमें पल-पल

Best Bollywood shayari