X

Love Shayari

तन्हाइयों क दौर पे दौर

मैं उनको निहारती रही और वो उसको मैं उनको बुलाती रही और वो मिलते रहे उसको तमन्ना तो मेरी भी थी की वो मुझे अपना कहते दर्द को मेरे वो रुसवा करते तन्हाइयों क दौर पे दौर गुजर गए और हम यहाँ खड़े उन्हें टकते ही रह गए सिसक इन… Read More

दिला देती है एहसास

सफ़र ये आसान नहीं जब हमदम साथ नहीं कहीं बादल हैं पर बरसात नहीं कहीं उसके थमने के आसार नहीं हर ओर से जो हो चुके थे निराश आज उनको है अपनी मंजिल की तलाश जब लगती है प्यास सबको होती है एक बूंद से भी बड़ी सी आस दिला… Read More

Lonely Lonely

कितने lonely lonely रहते हैं तेरे बिना कर ले यकीन जो भी हम कहते है ए मेरी हिना तेरे लबों पे ख़ामोशी हम क्यूँ सहें पानी बिन सागर भला कैसे रहे तड़प रहे हैं पल पल कैसे कहें बन पानी आँखों से तुम्हारी हम यूँ बहें की होश में ना… Read More

मेरी दुनिया बस तुम्ही में

इजाज़त हो जो आपकी कुछ कहें बस एक पल को हम आपकी बाहों में रहे उल्फतों में उलझने उलझ रही हैं मेरी दुनिया बस तुम्ही में सिमट रही हैं गिरफ्त की तुम्हारी आदत हो चली है रानी तुम्ही से तुम्ही तक है सिमटी हम और हमारी कहानी Read More

वक़्त कुछ ऐसा बदला

तुझसे मिलने में वो बात है की भीगे मेरे ज़ज्बात हैं एक ऐसा मुकाम जो तेरे साथ साथ हम पा गए साथ मिला तेरा और हम खुद को खुद ही से हार गए एक वक़्त था जब खुदा से मिलने की खातिर राहो को अपनी हम निहार रहे थे वक़्त… Read More