Love Shayari

Love Shayari in Hindi Font, Hindi Love Shayari, New Love Shayari 2017, Best Love Shayari , Shayari on Love, Shayari for Love, Love Shayari for Girlfriend Boyfriend, GF BF, Husband Wife, Latest Love Shayri, Funny Love Shayari, Romantic Love Shayari, Love hindi shayri, Love Shayri, Love Shayri hindi , whatsapp status , love quotes

13 Jun

क्यों तूने माँ की अस्ति गंगा में ना बहाई ?

कहानी बड़ी अजीब सी लिखी नसीब की ,
जिस धरा की खाते थे रोटी |
उसी पे हुयी तेरी नीयत खोटी |
जिस माँ के हाथों में था चूरमा तेरे वास्ते|
उस माँ को मिली सुखी रोटी तेरे रास्ते |
उसके प्यार को भूल कोई बात नहीं |
उसकी हर इक बात को भूल कोई बात नहीं |
तुझे उसकी जरा भी याद न आई |
क्यों तूने माँ की अस्ति गंगा में ना बहाई ?

13 Jun

माँ जो तू न होती….

आँखे बंद जो करता तो चेहरा तेरा दिखता|
सपनो के गुलिस्तान में नया फूल तो खिलता|
जिन्दगी को रोशन करता धुप में जब घिरता |
टप टप पानी पसीना बना
अपने दोषों को चीरता |
हिम्मत और लगन के साथ
खुद को तनहा ही रखता |
विश्वास की डोर के सहारे डर को दूर भगाता |
मेरी माँ जो तू न होती तो
मिटटी को सोना कैसे बनाता |

13 Jun

हम कौन है ये जान पाए थे

में मेरा नहीं तू तेरा नहीं |
इस जीवन में कोई अकेला नहीं |
अपनी सोच पे रखकर विश्वास,
जो खुद पर करते ऐतबार ,
तनहा नहीं होते आज |
अपने सपनों को पीछे छोड़ आये थे |
माँ के समझाने से समझ पाए थे |
हम कौन है ये जान पाए थे |