Love Shayari

Love Shayari in Hindi Font, Hindi Love Shayari, New Love Shayari 2017, Best Love Shayari , Shayari on Love, Shayari for Love, Love Shayari for Girlfriend Boyfriend, GF BF, Husband Wife, Latest Love Shayri, Funny Love Shayari, Romantic Love Shayari, Love hindi shayri, Love Shayri, Love Shayri hindi , whatsapp status , love quotes

15 Aug

इबादत करें

इबादत करें

शुकराना करे

आरज़ू करें

बस तुम्हारी

चाहत करें

शराफत करें

खिदमत में तुम्हारी

हम सिमट रहे हैं

आरजूओ में तुम्हारी

समझो जरा कुदरत के इशारे

हम हैं बस तुम्हारे सहारे

जन्नत मिली हैं मुझे

कभी बैठा था मैं सुनसान किनारे

कभी ना भूलेगे हम

ये एहसान तुम्हारे

15 Aug

हसरतों की ख्वाहिशो में

हसरतों की ख्वाहिशो में

नम आँखों की चाहतो में

रूह की खामोशियो में

तुम्ही बताओ भला

कौन रहता हैं

साथ जिसका

हर पल चाहे

तरसे जिसको

हमारी बाहें

उन यादो में कहो तो भला

कौन रहता है

समझों जरा इशारे

हम तुम संग हैं

नही कोई सागर के किनारे

जो तडपते रहेगे

एक दूजे को निहारे

न कोई दूरी है

न ही कोई मजबूरी

सिमट रही है दुनिया मेरी

चाहतों में तुम्हारी

14 Aug

ये दुनिया

ये दुनिया

ये जहाँ

इश्क की कीमत

इश्क की जीनत

मोहब्बत का पैमाना

क्या समझते

वो तो तुम थी

नही तो किसे पता

हम कहाँ तडपते

घूँट प्यार का

बूँद-बूँद ऐतबार का

सिला तुम्हारी फितरत है

मुझ जैसे अन्जान का

ऐतबार करा

कितनी हसीन तुम्हारी सीरत हैं

जिन्दगी हमारी तुम्ही से खूबसूरत हैं

इक तुम्हारा साथ ही अब

मेरे जीवन की जरूरत है

13 Aug

ओ मेरी रानी

ओ मेरी रानी

मेरी कहानी

क्यूँ तुम मेरी दीवानी

तुम हो कितनी सयानी

उस खुदा की रहमत से अनजानी

दीदार को तुम्हारे तरसती

जाने कितनी जिंदगानी

जाने फिर भी क्यूँ तुम मेरी दीवानी

मैं नादान

इस दुनिया से अनजान

कहते को इंसान

पर मेरी इक तुम्ही पहचान

जीवन भर रहे मेरे चेहरे पे

तेरी दी हुई मुस्कान

तुम्हारा प्यार ही हैं

मेरी जिन्दगी की शान

मेरी खुशियाँ

तुम्हारा दिया हुआ दान

मैं कौन

मेरी तुम हो आन

अंदाजा कोई क्या लगाएगा

तुम्हारी खातिर मेरा साया भी

सूली चढ़ जायेगा

वक्त जैसे-जैसे गुजरता जायेगा

हमारा प्यार सुनहरे रंगों का

इन्द्रधनुष बन

उस आकाश में लहराएगा

जिसे देख हर किसी के दिल में

मोहब्बत का सुरूर एसा छाएगा

की नफ़रत फ़ैलाने वालो का

खुद ही पर से ऐतबार उठ जायेगा

और उसी पल

तुम्हारा मेरा इश्क

गंगा की लहरों सा

चांदनी रात के उजालो सा

हर किसी के दिल को

रोशन कर जायेगा

दिल मेरा एक सवाल

फिर से दोहराएगा

क्या तेरा मेरा प्यार

अगले जनम भी यूंही गुनगुनाएगा

12 Aug

जब भी कोई ख्वाब पूरा हुआ

जब भी कोई ख्वाब पूरा हुआ

मेरा मन जैसे सुनहरा-सुनहरा हुआ

तुमसे जब जब मिलना हुआ

जहन में मेरे एक सवाल पुख्ता हुआ

की इतना हसीना ख्वाब

मेरा न जाने कैसे हुआ

किस तरह न जाने

मेरा मुकद्दर मुझपे मेहरबान हुआ

कैसे मेरे नसीब में फूलो का गुलिस्ता हुआ

कौन से कर्म की

या मेर धरम की

न कहना अब की मैनें लिखने में शर्म की

तुम मिली मुझे

क्यूकि खुदा ने मुझ पर रहमत की