X

Love Shayari

जब भी कोई ख्वाब पूरा हुआ

जब भी कोई ख्वाब पूरा हुआ मेरा मन जैसे सुनहरा-सुनहरा हुआ तुमसे जब जब मिलना हुआ जहन में मेरे एक सवाल पुख्ता हुआ की इतना हसीना ख्वाब मेरा न जाने कैसे हुआ किस तरह न जाने मेरा मुकद्दर मुझपे मेहरबान हुआ कैसे मेरे नसीब में फूलो का गुलिस्ता हुआ कौन… Read More

सपनों की दुनिया

सपनों की दुनिया में हकीकत के फ़साने बंद आँखों के सपने होते हैं लुभावने दुनिया क्या जाने मेरे सपनों की कीमत मेरी मोहब्बत ही है मेरी ज़ीनत क्या कह रहा हूँ क्या सोचा रहा हूँ हकीकत से दो दो हाथ कर रहा हूँ एक गैर की चाहत में दिन रात… Read More

मैं तुमको चाह कर भी

मैं तुमको चाह कर भी चाह ना सका मैं तुमको पा कर भी पा न सका अब अंधेरे में तुम्हारी जुस्तजू की क्यूँ फिर हमने तुम्हारी आबरू की कद्र ना की सब्र कैसे करे की हम सदमे में हैं किससे कहें बेहतर होता की वक्त पे काबू रख पाते हम… Read More

प्यार तुम्हारा पाया

प्यार तुम्हारा पाया रोशन हुआ मेरा साया रात हो या दोपहर बरसा रही हो अपने हुस्न का कहर जिस्म में लगी है आग तुम्हे छूने भर से तुम्हे पाने की ख्वाहिश रखते हैं न जाने कब से प्यास के अंगारे को और न भडकाओ तडप रहा हूँ में मेरी यह… Read More

आज फिर सवेरा हुआ

आज फिर सवेरा हुआ लेकिन सुनहरा हुआ आगोश में तुम्हारे गुजारी थी जो कल की रात काश होता तुम्हारा हमारा पल पल का साथ रात हो जाती यूँही लिए हाथों में हाथ तुम्हारी साँसो में बस जाएँ हम ये जिन्दगी यूँही गुजर जाये तो न रहे कोई गम चाहत से… Read More