Hindi shayari चलती फिरती लाश

24 Oct Hindi shayari चलती फिरती लाश

” ज़िन्दगी को सुकून की तलाश है

हमें नहीं बनना वो

जो चलती फिरती लाश हैं । ”

 

” कोशिश करता हूँ कि
खुश रहना है ।
सोचा करता हूँ कि
कब क्या कहना है । ”

Hindi shayari

” zindagi ko sukoon ki talaash hai
hamein nahin banana wo
jo chalati phirati laash hain . ”

 

” koshish karata hoon ki

khush rahana hai

socha karata hoon ki

kab kya kahana hai . ”

 

Love shayari , teri mohabbat