सदाबहार शायरी

love shayari

04 Sep सदाबहार शायरी

Love shayari ki Dukan ,

Latest Shayari in Hindi ,

True Love Shayari,

New Funny Shayari,

Best Sad Shayari,

Hindi Sms,

Hindi Quotes

Love shayari ki dukan

Love shayari ki dukan

की हमसे वफ़ा तो गैर
उसको जफा कहते हैं,

कहने दो कहने वालों को
हम तुमसे मोहब्बत करते हैं
तो क्या कोई गुनाह करते हैं
——————————————————-

जी ढूंढ़ता है फिर वही फुर्सत के रात दिन,
जब हमउम्रों के संग गलियों में घूमते थे
जैसे हम थे शहेंशाह ए हिन्द


कहते तो हो यूँ कहते, यूँ कहते जो यार आता,
मैंने कहा गर इज़ाज़त हो तो
हमारी हुस्न ए मलिका से मिल आता

 

चांदनी रात के खामोश सितारों की क़सम,
मुझे यकीन है तू मुस्कुराएगी
मेरी बर्बादी के दिन

 

आशिकी सब्र तलब और तमन्ना बेताब,
तुमसे मिलने को हम बन बैठे हैं
आशिक़ों के नवाब

Love shayari ki dukan

Love shayari ki dukan

 

रात सुलाना चाह रही थी

और आप

हमे प्यार में भिगाये जा रही थी

 

Raat sulana

chah rahi thi

Aur

Aap hame pyar me

Bhigoye ja rahi thi

_______________________

कहती हो चलो सो जाएं
मीठे मीठे सपनो में खो जाएं
पर आंखों में तुम्हारी
जो चढ़ी है खुमारी
वो पल पल हमे
तुम्हारे और करीब लाए
________________________

रात भुलाये ना
भूले जा रही थी

तुम तन्हाइयों में
हमे सताए जा रही थी
_____________________

भीगने का भी अपना ही मज़ा है

प्यार से बढ़कर नही

कोई सजा है

__________________________

यह हुस्न क्या कमाल है
की भीगे मेरे ज़ज़्बात हैं
बिजलियाँ कड़कने को तैयार हैं
और हम तुमसे
लिपटने को बेताब हैं

Love shayari ki dukan

Latest Shayari in Hindi

Love shayari ki dukan ,

True Love Shayari,

New Funny Shayari,

Best Sad Shayari,

Hindi Sms,

Hindi Quotes