X

याद रखना यह तारीख

Hindi shayari

Yaad rakhna yeh tareekh

वो नादान दीवानी हो रही
जिसकी कहानी
आज आम हो रही
कह रहे हैं आशिक भी
ज़रा याद रखना यह तारीख भी
ए मासूम अनजानी
तुम  हो रही हो सयानी
भूल के भी उन गलियों में न जाना
मासूम कलि यूँहीं किसी की
बातों में ना आना
जब भी दिल अपना लगाना
सोच समझ के फैसला अपना सनाना

Yaad rakhna yeh tareekh

This post was last modified on October 8, 2017 8:16 pm

Categories: Hindi Shayari
" Alok Yadav : ."