बंधन में बंधे हैं

22 Jun बंधन में बंधे हैं

काजल से सजी आँखों में
नज़रें तुम्हारी
कुछ ऐसी सज रही हैं
की कह रहे हैं कुछ
और आप हैं की कुछ
और ही समझ रही हैं
बंधन में बंधे हैं
जहा नियम बड़े कड़े हैं
तेरे इंतज़ार में ना जाने
कब से यही खड़े हैं