X

चुरा लू तुम्हे तुम्ही से

कोशिशो को मेरी राहत है |
तू मेरी बरसों की चाहत है |
तू खूब , खूब तेरी नज़ाकत |
तू नूर , खूब तेरी शराफत |
हमको मंज़ूर तेरे ख्वाबों की हिफाज़त |
चुरा ले हम तुम्ही को जो तुम दो इज़ाज़त |

This post was last modified on September 9, 2017 10:25 am

Categories: Love Shayari
Alok Yadav :