जाने क्या बात हुई

13 Jun जाने क्या बात हुई

दोनों में था प्यार , कफर अचानक क्या हुई बात |
सड़क किनारे बैठे जब साथ |
याद कर वो पुरानी मुलाक़ात |
चुपके -चुपके होती थी प्यार की बात |
अक्सर रास्तों में पत्थर मिल जाते हैं |
कुछ मुसाफिर मंजिलो से भटक जाते हैं |
सच को कब तक छुपाओगे |
बहुत जल्द हमको अपने बनाओगे |