X

ख्वाबों में तेरे…..

ढूंढ़ रही हो हमें कहाँ -कहाँ |
पिछली रात चाँद ने तुम्हे क्या कहा |
हमारी मुलाकातों के किस्से हो रहे |
तारे भी हमारी बातों में खो रहे |
झरोखे से हमें निहारे रही |
दिलमें हमारे झाँख रही |
अपनी किस्मत पे हमको यकीन हो गया |
ख्वाबोंमें तेरे में शरीक हो गया |

This post was last modified on September 9, 2017 10:31 am

Categories: Love Shayari
Alok Yadav :