रूठना मना हैं

13 Jun रूठना मना हैं

यह तुझे नहीं हैं पता ,
मैंने कब – कब तुझे अपने कहा |
तू हर पल मेरे साथ है |
तू मेरे रूह की पहचान है |
तुझसे रूठकर जाऊंगा कहाँ |
ढेर सारा प्यार लुटाऊंगा कहाँ |