शरारतें प्यार की

bahut pyara hai hamara sanam

12 Jun शरारतें प्यार की

Love shayari

Sharaarten pyaar ki

तेरे प्यार ने इस कदर बांधा |

तेरी जुल्फों के साए, उस पर तेरी निगाहें |

बहुत बदमाश हो तुम ,

पहले अपनी बाहों के हार से मदहोश करती हो |

लेकर आहें हमें बेचैन करती हो |

और जब लमिने आयें तो हमें दूर करती हो |

Sharaarten pyaar ki