ना रोको खुदको

26 Jun ना रोको खुदको

ना किसी को
करने को मनमानी ।
बड़े बड़े सबक सिखला जाती
यह नशीली जवानी ।
सन्नाटो में ना दोडो
लेकर अपनी आवाज ।
ना रखो में कोई राज ।
जरा सुना दो
हमे भी साज ।
जिसे याद कर आती आ जाती है
दिल से तुम्हारी भी आवाज ।
आने वाला वक़्त है
हम सभी के लिए खास ।
हो जाओ तेयार
आओ मिलकर करें
एक परयास।
जिसकी आस में शहीद हुए
भगत और आवाज ।