X

ये दुनिया

ये दुनिया

ये जहाँ

इश्क की कीमत

इश्क की जीनत

मोहब्बत का पैमाना

क्या समझते

वो तो तुम थी

नही तो किसे पता

हम कहाँ तडपते

घूँट प्यार का

बूँद-बूँद ऐतबार का

सिला तुम्हारी फितरत है

मुझ जैसे अन्जान का

ऐतबार करा

कितनी हसीन तुम्हारी सीरत हैं

जिन्दगी हमारी तुम्ही से खूबसूरत हैं

इक तुम्हारा साथ ही अब

मेरे जीवन की जरूरत है

This post was last modified on April 5, 2019 8:31 am

Categories: New Shayari
Alok Yadav :