एक तरफा मोहब्बत

12 Nov एक तरफा मोहब्बत

Ek tarfa pyar shayari hindi mein

Ek tarfa pyar shayari in hindi

 

 

 

 

 

 

Ek tarfa pyar shayari in hindi




Ek tarfa pyar shayari in hindi

Ek tarfa pyar shayari in hindi

Ek tarfa pyar shayari in hindi

Ek tarfa pyar shayari in hindi

Ek tarfa pyar shayari in hindi

Ek tarfa pyar shayari in hindi




एक तरफा मोहब्बत शायरी

 

एक तरफा मोहब्बत शायरी

 

Ek tarfa mohabbat shayari

 

ज़िन्दगी दोबारा मिले न मिले
तुम जरूर मिलते जाना
तेरे बहाने ज़िन्दगी के संग
दो पल गुज़ार लेंगे

Zindagi dobara mile naa mile

Tum jarur milte jana

Tee bahane zindagi ke sang

Do pal gujaar lenge

 

हाँ तेरी खबर
आने का इंतज़ार करने में
ज़िन्दगी गुज़ार दी

हाँ हमने किसी की ना मानी
तू होगी हमारी
इसी सोच में
जाने कितनी रातें
तन्हाइयों में बिता दी

हाँ तुझे अपना समझना
एक भूल थी मेरी
ओर इसी एक भूल ने
मेरी आदतें बिगाड़ी

माना मैं नासमझ था
तेरे हुस्न के आगे
बेबस था

पर तुम तो सब जानती थी
शायद तुम भी
एक दीवाना मुझसा चाहती थी
दुनिया को अपने
हुस्न का जादू जो
दिखाना चाहती थी




तेरे काले जादू ने
मेरे जीवन को बदहाल कर दिया

दुनिया क्या जाने
एकतरफा मोहब्बत ने
मुझ काबिल को
नाकाबिल कर दिया

 

 

Ek tarfa pyar shayari in hindi

 

Haa teri khabar
Aane ka intezaar
Karne me
Zindagi guzaar di

Haa hamne
kisi ki naa mani
Tu hogi hamari
Isi soch me
Jaane kitni raatein
Tanhaiyon me bita di

Haa tujhe
apna samajhna
Ek bhool thi meri
Aur isi ek bhool ne
Meri aadatein bigadi

Mana main
nasamajh tha
Tere husn ke aage
bebas tha

Par tum to sab janti thi
Shayad tum bhi
Ek deewana mujhsa chahti thi
Duniya ko apne
husn ka jadu
Jo dikhana chahti thi

Tee kaale jadu
Mere jeevan ko badhaai kar diya

Duniya kya jaane
Ektarfaa mohabbat ne
Mujh kaabil ko
Na kaabil kar diya

 

Ek tarfa pyar shayari  hindi me

मैं रोती रही
तड़पती रही
याद कर कर के
बिलखती रही

ऐसी मोहब्बत
दुश्मन को भी ना मिले
यह दुआ पल पल करती रही

 

Main roti rahi

Tadapti rahi

Yaad kar kar ke nikalati rahi

 

Aisi mohabbat

Dushman ko bhi naa mike

Yeh dua pal karti rahi

Ek tarfa pyar shayari hindi main ,Ek tarfa pyar shayari hindi me, Ek tarfa pyar shayari in hindi font ,Ek tarfaa pyar shayari hindi main , Ek tarfaa pyar shayari hindi me, Ek tarfaa pyar shayari in hindi font




Heart touching lines for girlfriend in hindi

जिसे सब एक तरफा कहते हैं
पर दिल मानने को
होता नही मंज़ूर

कोई बताएगा कि
इसमें दिल का क्या होता है कसूर

 

Jise sab ek tarafa kehate hain

Par dil manane ko

Hota nahi manzoor

 

Koi batayega ki

Isme dil ka kya hota hai kasoor

 

तुम  क्या जानो 

प्यार में कब से हैं तुम्हारे

तुम को चाहने वालो की
सुन के आ रहे हैं हम बातें

सब तेरे जिस्म की बातें करते हैं
और हम हैं कि तुझे
अपनी धड़कनो में
सहेज के रखते हैं

Ek tarfa pyar shayari hindi main ,Ek tarfa pyar shayari hindi me, Ek tarfa pyar shayari in hindi font ,Ek tarfaa pyar shayari hindi main , Ek tarfaa pyar shayari hindi me, Ek tarfaa pyar shayari in hindi font

Tum kya jaano

Pyar me kab se hain tumhare

Tum ko chahne walon ki

sun ke aa rahe hain hum baatein

Sab tere zism ki baatein

Karte hain

Aur hum tumhe apni dhadkano me

Sahej ke rakhte hain

 

 

 

Sad love shayari in hindi for girlfriend 140 words

 

मोहब्बत ही मोहब्बत है
फिज़ाओ में बिखरी हुयी
मेहबूब के कदमों में
मेरी ख्वाहिशें हैं
सिमटी हुई
की आएंगे वो कभी
मेरे गरीबखाने में
इसी ख्वाब में है
मेरी ज़िंदगी
जकड़ी हुई

इश्क़ के फितूर से
खुद को जो अलग किया
मैं मैं ना रहा
जैसे जिस्म से
जान को जुदा किया

महफ़िल रोशन
तेरे ही कदमों से होगी
ए हुस्न ए मल्लिका
हम कब से तेरी
याद में चराग़
जलाए बैठे हैं
ए मेरे यार तुझे याद ना करें
हमसे ना होगी ऐसी ख़ता

ना कहना कि हमसे प्यार नहीं
वरना हम भूल बैठेंगे
अपना ही पता
तेरी यादों में
मेरा हर लम्हा गुजरता है
प्यार तेरा पाने को
इस दीवाने का दिल
कयामत में भी धड़कता है

बेज़ुबान हम हुए
इश्क़ में फना हम हुए
फिर भी
तेरे होठों पे मुस्कान थी
लगा जैसे मोहब्बत हमारी
खुदगर्ज़ी की पहचान थी

 

Sad love shayari in hindi for girlfriend 100 words

 

Mohabbat hi
mohabbat hai
Fizao me bikhari huyi
Mehboob ke kadamo me
Meri khwahishein hai
Simti huyi
Ki aayenge wo kabhi
Mere garib khane me
Isi khwaab me hai
Meri zindagi jakadi huyi

Ishq ke fitoor me
Khud ko jo alag kiya
Main main naa raha
Jaise jism se
Jaan ko zuda kiya

Mehfil roshan tere hi
kadamon se hogi
Ae husne-e-mallika
Hum kab se
teri yaad me
charaag jalaye
baithe hain

Ae mere yaar
tujhe yaad naa kare
Hamse naa
hogi aisi khata
NAa kehna ki
hamse pyar nahi
Warna hum bhool baithenge
Apna hi pata
Teri yaadon me
Mera har lamha
gujarta hai
Pyar tera paane ko
Is diwane ka dil
Kayamat me bhi
dhadkta hai

Bejubaan hum huye
Ishq me fanaa hum huye
Phir bhi
Tere hothon pe
Muskaan thi
Lagaa jaise
mohabbat hamari
Khudgarz ki
pehchaan thi

 

एक तरफा मोहब्बत शायरी

 

जैसे डूबते को तिनके का
सहारा होता है
उसी तरह
हर मासूक को
अपनी मासूका का
इंतेज़ार होता है

—————————————

लाज़मी है तेरा मुस्कुराना
मेरे कदमों की आहट पर
कल गर्व करोगी
तुम भी अपनी चाहत पर

———————————

मोहब्बत माना
एक तरफा थी
पर किसी ज़माने
में हमारे भी चर्चे थे

 

——————————

 

Mohabbat mana
Ek tarfa thi
Par kisi zamane Me
Hamare bhi charche the

 

—————————————-

 

Lazmi hai
tera muskurana
Mere kadmo ki
aahat par
Kal garv karogi
Tum bhi
apni chahat par

 

——————————

 

Jaise doobte ko
tinake ka sahara hota hai
Usi tarah
Har masooq ko
Apni masooqa ka
intezaar hota hai