X

शहीदों को नमन

आज फिर हम तेरे लिए गायेंगे |
वो गीत फिर से गुनगुनायेंगे |
कुछ पल को हम शायद,
खुद को भी भूल जायेंगे |
आजादी हो चाहे दो पल की |
यह बात है हमारी धडकनों की |
धुंधली पड़ती उलझनों की |
यह कहानी है उन दर्पणों की |
जहां मिट जाती हैं बातें सरहदों की |
शहीदों की शहादत को याद करती |
इस मिटटी के कण- कण की |
यह कहानी है , तुम्हारे – हमारे इस वतन की |

This post was last modified on August 11, 2018 4:20 pm

Categories: Sad Shayari
" Alok Yadav : ."