डाकिया डाक लाया

16 Jul डाकिया डाक लाया

पोस्टमैन

 

वो कल भी था

इस जहां में

हमारे तुम्हारे रिश्तों को निभाने

राखी की सौगात को

सात समंदर पार तक पहुचाने

वो कल भी था

इस जहां में

प्यार है तुमसे खत में लिखके

एक दूजे को बताने

वो आज भी है

बस कद्र थोड़ी

कम कम सी है

क्योंकि Internet के युग मे

Postman की सेवा

लगती धीमी धीमी सी है

जज़्बातों के तार बेतार हो गए

Postman का इंतज़ार करने वाले

बस कुछ ही लोग रह गए ।

 

Postman

 

vo kal bhee tha

is jahaan mein

hamaare tumhaare rishton ko nibhaane

raakhee kee saugaat ko

saat samandar paar tak pahuchaane

vo kal bhee tha

is jahaan mein

pyaar hai tumase khat mein likhake

ek dooje ko bataane

vo aaj bhee hai

bas kadr thodee

kam kam see hai

kyonki intairnait ke yug me

postman kee seva

lagatee dheemee dheemee see hai

jazbaaton ke taar betaar ho gae

postman ka intazaar karane vaale