filmi shayari collection in hindi Tag

bollywood shayari hindi mai
16 Sep

Bollywood Shayari Hindi Mai

Bollywood Shayari

 

 

Hum aapke Hain Kaun

 

काटे नहीं कट-ते लम्हे इंतज़ार के,

नज़रें बिछाए बैठे हैं रस्ते पे यार के,

दिल ने कहा देखे जो जलवे हुस्ने यार के,

लाया है उन्हें कौन फ़लक से उतार के

 

Raaz

 

गर्मीए हज़रत के नकाम से जलते है,

हम चिरागों की तरह शाम से जलते है.

जब आता है तेरा नाम मेरे नाम के साथ,

ना जाने क्यों लोग  हमारे नाम से जलते है

 

bollywood shayari hindi mai

 

Pyar ka tohfa

 

प्यार ने ये कैसा तोहफा दे दिया,

मुझको गमो ने पत्थर बना दिया.

तेरी यादों मैं ही कट गयी ये उमर,

कहता रहा तुझे कब का भुला दिया

 

Dil Ka Khel

 

जिसने हमको चाहा, उसे हम चाह ना सके.

जिसको हमने चाहा, उसे हम पा ना सके.

ये सोच लो की, दिल टूटने का खेल है

किसी का तोडा और, अपना बचा ना सके.

 

Tum

 

तुम मिलो न मिलो,न मिलने का ग़म नहीं,

तुम पास से ही गुजर जाओ, मिलने से कम नहीं.

माना कि तुम्हे हमारी कद्र नहीं,

मगर उनसे पूछो जिन्हे हम हासिल नहीं

 

Barsaat

 

उन्हें लगता है के हमें आदत है मुस्कुराने की,

वह बेवफा यह भी न जाने यह अदा है ग़म छुपाने की

 

Fanaa

 

रोने दे तू आज हमको तू आँखे सुजाने दे,

बाहों में लेले और खुद को भीग जाने दे.

है जो सीने में क़ैद दरिया वह छूट जायेगा,

है इतना दर्द कि तेरा दामन भीग जायेगा

 

Bollywood Shayari hindi sms

 

Ghajani

बस अब एक हाँ के इंतज़ार में रात यूँही गुज़र जायेगी,
अब तोह बस उलझन है साथ मेरे नींद कहाँ आएगी,
सुबह की किरण न जाने कौनसा सन्देश लाएगी,
रिमझिम इस गुंगुनायेगी या प्यास अधूरी रह जायेगी

Sharaabi

आज उतनी भी नहीं मेह्खाने में ,
जितनी हम छोड़ दिया करते थे पैमाने में…

Jab tak Hai Jaan

तेरी आँखों की नमकीन मस्तियाँ तेरी
हँसी की बे परवाह गुस्ताखियाँ
तेरी जुल्फों की लहराती अंगड़ाइयाँ
नहीं भूलूंगा मैं
जब तक है जान, जब तक है जान

तेरा हाथ से हाथ छोड़ना तेरा
सायों का रुख मोड़ना
तेरा पलट के फिर न देखना
नहीं माफ़ करूँगा मैं,
जब तक है जान, जब तक है जान

बारिशों में बेधड़क तेरे नाचने से
बात बात पे तेरे बेवजह रुठने से
छोटी छोटी तेरी बचकानी बदमाशियों से
मोहब्बत करूँगा मैं
जब तक है जान, जब तक है जान

तेरे झूठे कसमें वादों से ,तेरे
जलते सुलगते खावो से
तेरी बेरहम दुआओं से
नफरत करूँगा मैं
जब तक है जान, जब तक है जान

Raaz

गर्मीए हज़रत के नकाम से जलते है
हम चिरागों की तरह शाम से जलते है…
जब आता है तेरा नाम मेरे नाम के साथ
ना जाने क्यों लोग हमारे नाम से जलते है

 

 

 

bollywood shayari
15 Sep

bollywood Shayari hindi me

Bollywood Shayari

Bollywood shayari hindi me Bollywood shayari hindi me Bollywood shayari hindi me Bollywood shayari hindi me Bollywood shayari hindi me Bollywood shayari hindi me Bollywood shayari hindi me Bollywood shayari hindi me Bollywood shayari hindi me Bollywood shayari hindi me

Haseena Parkar

लोगो ने इज़्ज़त बख़्शी मैंने क़ुबूल की

मुझे इस बात का अफ़सोस नहीं है

की मैं तुझे नहीं जानती …

इस बात का अफ़सोस है

की तू मुझे नहीं जानती

 

छोटे कामों में धमकाने के लिए

मैं कोई गली का गुंडा नहीं थी …

पर मेरे घरवालों को कोई चोट पहुंचाए

तो ख़ामोशी सहने के लिए

मैं कोई संत भी नहीं थी

Once upon a time in mumbai

हमारी तसवीरें खींच के

अपनी दूकान में लगा लेना …

कभी ज़रुरत पड़े,

तो दोनों में से एक भगवन चुन लेना

 

मैं उन चीज़ों की स्मगलिंग करता हूँ,

जिनकी इजाज़त सरकार नहीं देती …

उन चीज़ों की नहीं,

जिनकी इजाज़त ज़मीर नहीं देता

 

रास्ते की परवाह करूंगा तो …

मंज़िल बुरा मान जायेगी

 

आदमी तभी बड़ा बनता है …

जब बड़े लोग उससे मिलने का इंतज़ार करे

 

दुआ में याद रखना

 

मुश्किल तो यह है कि

मैं अभी ठीक तरह से बिगड़ा भी नहीं …

और तुमने सुधारना शुरू कर दिया

 

चौकियां चाहे पुलिस की हो …

शहर के कमिश्नर तो हम ही लोग है

 

जो अपनी माँ की इज़्ज़त नहीं करते …

मैं उनका बाप बनकर आता हूँ

 

ज़िन्दगी हो तो स्मगलर जैसी …

सारी दुनिया राख की तरह नीचे

और खुद धुंए के तरह ऊपर

 

Rajesh khanna movie dialogues

बाबुमोशाय , ज़िन्दगी और मौत ऊपरवाले के हाथ मे है जहाँपनाह।उसे ना तो आप बदल सकते हैं ना मैं । हम सब तो रंगमंच की कठपुतलियां हैं जिनकी डोर ऊपर वाले के हाथ मे बंधी हैं। कान कौन कैसे उठेगा यह कोई नही बात सकता है हा हा हा ……

ज़िन्दगी बड़ी होनी चाहिए , लंबी नही बाबुमोशाय

मैंने तुमसे कितनी बार कहा है पुष्पा , मुझसे यह आँसूं नही देखे जाते । आइ हेट टीयर्स ।

मैंने तेरा नमक खाया है इसलिए तेरी नज़रों में नमक हराम जरूर हूँ लेकिन जिसने यह नमक बनाया है उसकी नज़रों में नमक हराम नही हूँ मैं , विक्की

मैं मरने से पहले मरना नही चाहता

It’s simple to be happy but difficult to be simple – Bawarchi

इंसान को दिल दे , जिस्म दे , दिमाग दे लेकिन यह कमबख्त पेट मत दे । जब पेट देता है , तो उसे भूख मत दे । – Roti

Hindi movie dialogues

एक छोटा सा जख्म बहुत गहरा दाग बन सकता है । और एक छोटी सी मुलाकात जीवन भर का साथ बन सकती है – Daag

सेठ जिसे तुम खरीदने चले हो उसके चेहरे पे लिखा है नॉट फ़ॉर सेल – अवतार

इन्हें माफ ना करने के बदले में अगर भगवान मुझे नरक मे भी जगह दे दे तो मुझे इस बात जा अफसोस नही होगा । मगर मैं इन्हें दोबारा स्वर्ग में जगह नही दूंगा । – स्वर्ग

Filmy shayari collection

 

Babumoshai, zindagi aur maut uparwale ke haath hai jahanpanah. Usse na toh aap badal sakte hain na main. Hum sab toh rangmanch ki kathputhliyan hain jinki dor uparwale ki ungliyon main bandhi hain. Kab, kaun, kaise uthega yeh koi nahi bata sakta hai. Ha, ha, ha.’

Zindagi Badi Honi Chahiye, Lambi Nahi Babu Moshai

Maine tumse kitni baar kaha hai Pushpa, mujhse yeh aansoo nahi dekhe jaate. I hate tears

Hindi song shayari lyrics 

Maine tera namak khaya hai isliye teri nazron mein namak haram zaroor hoon lekin jisne yeh namak banaya hai uski nazron mein namak haraam nahi hoon, Vicky

Main marne se pehle marna nahin chahta

It’s simple to be happy but difficult to be simple

Insaan ko dil de, jism de, dimaage de, lekin yeh kambaqth pet mat de. Jab pet deta hai, toh usse bhook mat de.

Ek chhota sa zakhm bahut gehra daag ban sakta hai. Aur ek chhoti si mulaqat jeevan bhar ka saath ban sakti hai

Seth, jise tum khareedne chale ho, uske chehre par likha hai, not for sale.

Inhe maaf na karne ke badle mein agar bhagwan mujhe narak mein bhi jagah de de toh mujhe is baat ka afsos nahi hoga. Magar main inhe dobara swarg mein jagah nahi doonga

 

 Ghajani

बस अब एक हाँ के इंतज़ार में रात यूँही गुज़र जायेगी,
अब तोह बस उलझन है साथ मेरे नींद कहाँ आएगी,
सुबह की किरण न जाने कौनसा सन्देश लाएगी,
रिमझिम इस गुंगुनायेगी या प्यास अधूरी रह जायेगी

 

Sharaabi

आज उतनी भी नहीं मेह्खाने में ,
जितनी हम छोड़ दिया करते थे पैमाने में…

Jab tak Hai Jaan

तेरी आँखों की नमकीन मस्तियाँ तेरी
हँसी की बे परवाह गुस्ताखियाँ
तेरी जुल्फों की लहराती अंगड़ाइयाँ
नहीं भूलूंगा मैं
जब तक है जान, जब तक है जान

 

तेरा हाथ से हाथ छोड़ना तेरा
सायों का रुख मोड़ना
तेरा पलट के फिर न देखना
नहीं माफ़ करूँगा मैं,
जब तक है जान, जब तक है जान

 

बारिशों में बेधड़क तेरे नाचने से
बात बात पे तेरे बेवजह रुठने से
छोटी छोटी तेरी बचकानी बदमाशियों से
मोहब्बत करूँगा मैं
जब तक है जान, जब तक है जान

 

तेरे झूठे कसमें वादों से ,तेरे
जलते सुलगते खावो से
तेरी बेरहम दुआओं से
नफरत करूँगा मैं
जब तक है जान, जब तक है जान

Raaz

गर्मीए हज़रत के नकाम से जलते है
हम चिरागों की तरह शाम से जलते है…
जब आता है तेरा नाम मेरे नाम के साथ
ना जाने क्यों लोग हमारे नाम से जलते है

 

Heer Ranjha

 

उससे कहना कि तुम मेरा एक ख्वाब हो,

जो चमकता है दिल में वो माहताब हो …

उससे कहना के गेहुओं के खेतों का रंग,

तिलमिलाती हुई तितलियों की उमंग…

उससे कहना के झरनों का चंचल शबाब,

घाट की ताज़गी, आबरू-ऐ-जनाब …

उससे कहना के झूलों की अंगड़ाइयां

और उड़ते दुपट्टों की श्रेणियां …

उससे कहना कि चक्की के गीतों की आग,

लड़खड़ाती जवानी, मचलता सुहाग …

उससे कहना के दुलहनों के काजल की प्यास,

पहले भूसे की गर्म और ठंडी मिठास …

इतनी रंगीनियों को जब इखजा किया,

हीर कुदरत ने तब तुझको पैदा किया

 

 

क्या मिलेगा भला रुलाके मुझे …

पाओगे क्या जला जलाके मुझे

 

यूँ तो दुनिया ने भी तीर मारे बहुत …

याद आयेंगे एहसान तुम्हारे बहुत

 

कुचल दूँगा, मसल दूंगा,

जला दूंगा, लुटा दूँगा …

रुलाया मुझको किस्मत ने …

मैं दुनिया को रूला दूँगा

 

छेड़के दिल के टूटे तारों को,

अब तुम उसकी सदा से डरते हो …

खुद ही तूफ़ान उठाये है तुमने,

और खुद ही हवा से डरते हो

Diljale

एक पल में जो गुजर जाए
यह हवा का एक झोंका है ……
और कुछ नहीं
प्यार कहती है दुनिया जिसे
एक रंगीन धोका है ……
और कुछ नहीं

 

 

आरज़ू झूठ है
आरज़ू का फरेब खाना नहीं
खुश जो रहना हो
ज़िन्दगी में तुम्हे
दिल कभी किसी से लगाना नहीं

 

 

क्यों बनाती हो रेत के महल
जिसे खुद ही तोड़ डालोगी तुम
आज तो कहती हो
इस दिलजले से प्यार है तुम्हे
कल को मेरा नाम तक भूल जाओगी तुम

 

Devdas

 

आपने हिस्से की ज़िन्दगी तो हम कब के जी सके
अब तो हम धडकनों का लिहाज़ करते हैं
क्या करे इस दुनिया वालों का
जो हमारी धडकनों पे भी ऐतराज करते हैं

bollywood shayari  hindi me

 

दिल के छालों को

कोई शायरी कहे तो दर्द नहीं होता

तकलीफ तो तब होती है

जब लोग वाह वाह करते हैं

 

Sarfarosh

 

अपनी आँखों के समंदर में

डूब जाने दे

तेरा मुजरिम हूँ

मुझे डूब के मर जाने दे

bollywood shayari hindi me

 

Fanaa

 

दूर हमसे जा पाओगे कैसे,
हमको भूल पाओगे कैसे.
हम वो खुशबु हैं जो साँसों में उतर जाये,
खुद अपनी सांसों को रोक पाओगे कैसे..

 

 

बेखुदी की ज़िंदगी

हम जिया नहीं करते,

यूँ किसीका का जाम

हम पिया नही करते.

उनसे केह दो

मोहब्बत का इज़हार आकर खुद करें,

यूँ किसी का पीछा हम किया नहीं करते

 

bollywood Shayari hindi me

 

रोने दे तू आज हमको, तू आँखे सुजाने दे

बाहों में ले ले और, खुद को भीग जाने दे

है जो सीने में कैद दरिया, वो छूट जायेगा

है इतना दर्द की, तेरा दामन भीग जायेगा…

 

 

तेरे दिल में

मेरी साँसों को पनाह मिल जाये

तेरे इश्क़ में

मेरी जान फ़ना हो जाये…

 

Teri meri kahani

 

आप हमे भूल जाओ

हमें कोई गम नहीं,

आप हमे भूल जाओ

हमें कोई गम नहीं,

जिस दिन हमने

आपको भुला दिया,

समझ लीजिएगा,

इस दुनिया में हम नहीं…..

 

Bollywood shayari -2016

 

न सिर्फ एक शब्द नहीं,
अपने आप में पूरा वाक्य है।।
इसे किसी भी तरह के स्पष्टीकरण की
आवश्यकता नहीं है।।
न का मतलब सिर्फ न होता है।।
पिंक ,2016

म्हारी छोरियां छोरों से कम हैं के।।
दंगल ,2016

एक तरफा प्यार की ताकत ही
कुछ और होती है,
और रिश्तों की तरह ये दो लोगों में नही बंटती,
इसमे सिर्फ मेरा हक है।।
ऐ दिल है मुश्किल, 2016

हमारें यहां घड़ी की सुई करैक्टर
Decide करती है।।
पिंक,2016

मतलब तो बाजी जीतने से है,
फिर चाहे प्यादा कुरबान हो या रानी।।
रुस्तम ,2016

तू मेरी steady गर्लफ्रैंड है, नहीं ना ।
वो मेरी exclusive माँ है।।
रमन राघव,2016

हम अपने लिए जी नहीं पा रहे,
और यहां लोग दूसरों के लिए मरने को तैयार हैं।।
अन्ना, 2016

अपाहिज वो नहीं, जिसका कोई अंग न हो…
अपाहिज वो है ,
जो अपने अंग का इस्तेमाल न करे।
दूसरों की मदद न करने वाले हाँथ अपाहिज हैं,
जुल्म को देखकर मुड़ने वाली आँख अपाहिज है…
माँ बाप को छोड़कर भागने वाले पाँव अपाहिज हैं।।
अकीरा ,2016

अब बारी थी, एक ऐसी फ़िल्म की
जिसका इंतजार लोगों को कब से था।
कट्टप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा?
ये सवाल शायद दशक के सबसे बड़ा
सवाल बन गया था।

 

Bollywood shayari – 2017

 

देवसेना को किसी ने हाँथ लगाया,
तो समझो बाहुबली की तलवार को हाँथ लगाया।।
बाहुबली द कॉनक्लूज़न, 2017

जब तक तुम मेरे साथ हो ,
मुझे मारने वाला पैदा नहीं हुआ मामा ।।
बाहुबली द कॉनक्लूज़न, 2017

जो प्राण देता है, वो भगवान है।
जो प्राण की रक्षा करता है वो वैद्य,
और जो प्राण बचाये वो ईश्वर।।
बाहुबली द कॉनक्लूज़न, 2017

समय हर कायर को सूरवीर बनने का
अवसर देता है,ये क्षण वही है।।
बाहुबली द कॉनक्लूज़न, 2017

अपने हाथों को हथियार बना लो,
अपनी सांसो को आंधियों में बदल दो,
हमारा रक्त ही महासेना है।।
बाहुबली द कॉनक्लूज़न, 2017

Bollywood shayari 2017

औरत पर हाँथ डालने वाले की
उँगलियाँ नही काटते ,काटते हैं उसका गला।।
बाहुबली द कॉनक्लूज़न, 2017

आशिकों ने तो आशिकी के लिए
ताजमहल बना दिये,
हम साल एक संडाज नहीं बना सके।।
टॉयलेट एक प्रेमकथा ,2017

अस्पताल में पड़े मरीज को और
प्यार में पड़े आशिक को
कभी अकेला नही छोड़ना चाहिए ।।
टॉयलेट एक प्रेमकथा ,2017

बॉलीवुड में शायरी का चलन भी बहुत रहा है,
अक्षय कुमार की इस मूवी में शायरी भी
खूब रहीं
गीता में श्रीकृष्ण ने बात कही गंभीर ,
औरों से दुनिया लड़े, लड़े स्वयं से वीर।।
टॉयलेट एक प्रेमकथा ,2017

किस किस को दुख मनाये,
किस किस को रोइये।
कन्हैया जी की चादर में मुँह ढककर सोइये।।
टॉयलेट एक प्रेमकथा ,2017

Bollywood shayari , Bollywood shayari  in hindi ,Bollywood
shayari  hindi me ,filmy shayari in hindi