X

maha kali status

jai mata di shayari in hindi – more than 100+ shayaris and status to share

jai mata di shayari in hindi   माता रानी के आशीर्वाद से रचित शायरी व स्टेटस पढ़ने के लिए , उन्हें शेयर करने के लिए आप सभी का धन्यवाद । दोस्तों आप अपने सुझाव हमारे साथ साझा कर सकते हैं , अपने कमेंट द्वारा । माता रानी की कृपा हम सभी पर सदा बनी रहे । जय माता रानी की । जय शेरोवाली माता की । जय पहाड़ों वाली माता की । जय अम्बे माता की । जय काली माता की । जय माँ जगदम्बे ..   Maha kali status माता के चरणों मे शीश झुकाते हैं नवरात्रि के पर्व में दीप जलाते हैं महके घर संसार अपना ऐसी अरदास माता से लगाते हैं मंदिर मंदिर घूम दिल मे भक्ति का भाव जगाते हैं जीने के असली रंग मां की कथा सुनके ही आते हैं मन मंदिर हो जाता है जब नवरात्रि में मां को घर बुलाते हैं किस तरह पावन वो नो दिन बन जाते हैं कहने को शब्द नहीं हम मां के चमत्कार देख बेजुबान हो जाते हैं   मजबूरों की झोली में सोने चांदी के अंबार लग जाएंगे जो लक्ष्मी चाहेगा उसे कुबेर के भंडार मिल जाएंगे । सरस्वती वंदना करने वालो की कला के दीवाने बहुतेरे हो जाएंगे । जिसे प्यार चाहिए उसके अपने उसे स्वर्ग सा एहसास करायेंगे जो सिर्फ मां की आस लगाए हैं मां की भक्ति में उसके समस्त पाप धुल जाएंगे Jai mata di Quotes माँ तेरी चौखट पर शीश हम झुकाते है तेरी रहमत ही है की हम मुस्कुराते हैं मेरी माँ को पता है की मेरे दिल में कौन है बसता क्यूंकि उसकी रहमत के बिना रहता है जन जन तरसता ज़िन्दगी का क्या है हँसते खेलते गुजर जायेगी जयकारा लगाते रहो माँ ने चाहा तो मोक्ष यह रूह पा जाएगी   Jai mata di sms सफल होंगे सब काज माँ रखेगी हमारी लाज वक़्त आ गया है दे दे सपनो को अपने नया आगाज़ माता तेरे चरणों मे अर्पण मेरे गीत जिसने गाया इनको उसने पाए अपने मीत जीवन के उतार चढ़ाव से गुजरने में डर नही अब लगता जय माता दी कहते जाओ हर कोई अपना सा लगने लगता जी भर के जीने की तमन्ना पूरी हो जाएगी जब होठों पे मुस्कान संग जय माता दी कि धुन छिड़ जाएगी ------------------------------------------ कह दो सारे जहां से उस ऊंचे आसमान से गणेशा आ रहे हैं गणेशा आ रहे हैं --------------–------------- बसे हो प्रभु तुम इस जहां के कण कण में तुम्हारी भक्ति से जगती है अलख कुछ करने की जन जन में Mata Rani shayari in hindi माता तेरे चरणों मे भेंट हम चढ़ाते हैं कभी नारियल तो कभी फूल चढ़ाते हैं और झोलियाँ भर भर के तेरे दर से लाते हैं   बिन बुलाए भी जहां जाने को जी चाहता है वो चौखट ही है तेरी माँ जहां यह बंदा सुकून पाता है   माँ जब भी तुझको पुकारा है बिन मांगे सब पाया है Shayari ki dukan ए माँ मेरी गुनाहों को मेरे मैं कुबूल करता हूँ मोक्ष दे दे मेरी माँ बस यही आशा रखता हूँ मिलते हैं हज़ारों से… Read More