navratri wishes Tag

navratri shayari in hindi
16 Sep

jai mata di shayari in hindi

jai mata di shayari in hindi  ,Navratri wishes sms ,navratri shayari , bhakti sayari , navratri wises shayari , happy navratri hindi sms , maa durga ki kripa

 

माता रानी के आशीर्वाद से रचित शायरी व स्टेटस पढ़ने के लिए , उन्हें शेयर करने के लिए आप सभी का धन्यवाद । दोस्तों आप अपने सुझाव हमारे साथ साझा कर सकते हैं , अपने कमेंट द्वारा । माता रानी की कृपा हम सभी पर सदा बनी रहे । जय माता रानी की । जय शेरोवाली माता की ।
जय पहाड़ों वाली माता की । जय अम्बे माता की । जय काली माता की । जय माँ जगदम्बे ..

 

माता के चरणों मे शीश झुकाते हैं
नवरात्रि के पर्व में दीप जलाते हैं
महके घर संसार अपना
ऐसी अरदास माता से लगाते हैं
मंदिर मंदिर घूम दिल मे
भक्ति का भाव जगाते हैं
जीने के असली रंग
मां की कथा सुनके ही आते हैं
मन मंदिर हो जाता है
जब नवरात्रि में
मां को घर बुलाते हैं
किस तरह पावन
वो नो दिन बन जाते हैं
कहने को शब्द नहीं
हम मां के चमत्कार देख
बेजुबान हो जाते हैं

मजबूरों की झोली में
सोने चांदी के
अंबार लग जाएंगे
जो लक्ष्मी चाहेगा
उसे कुबेर के भंडार
मिल जाएंगे ।
सरस्वती वंदना करने वालो
की कला के दीवाने
बहुतेरे हो जाएंगे ।
जिसे प्यार चाहिए
उसके अपने उसे
स्वर्ग सा एहसास करायेंगे
जो सिर्फ मां की आस लगाए हैं
मां की भक्ति में
उसके समस्त पाप धुल जाएंगे

Jai mata di Quotes

माँ तेरी चौखट पर
शीश हम झुकाते है
तेरी रहमत ही है
की हम मुस्कुराते हैं

मेरी माँ को पता है
की मेरे दिल में कौन है बसता
क्यूंकि उसकी रहमत के बिना
रहता है जन जन तरसता

ज़िन्दगी का क्या है
हँसते खेलते गुजर जायेगी
जयकारा लगाते रहो
माँ ने चाहा तो
मोक्ष यह रूह पा जाएगी

jai mata di shayari

jai mata di shayari

jai mata di shayari

jai mata di shayari

Jai mata di shayari in hindi

 

Jai mata di shayari in hindi

Jai mata di sms

सफल होंगे सब काज
माँ रखेगी हमारी लाज
वक़्त आ गया है
दे दे सपनो को अपने नया आगाज़

माता तेरे चरणों मे
अर्पण मेरे गीत
जिसने गाया इनको
उसने पाए अपने मीत

जीवन के उतार चढ़ाव
से गुजरने में डर नही
अब लगता
जय माता दी कहते जाओ
हर
कोई अपना सा लगने लगता

जी भर के जीने की तमन्ना
पूरी हो जाएगी
जब होठों पे मुस्कान संग
जय माता दी कि
धुन छिड़ जाएगी

——————————————

कह दो सारे जहां से

उस ऊंचे आसमान से

गणेशा आ रहे हैं

गणेशा आ रहे हैं

————––————-

बसे हो प्रभु तुम इस

जहां के कण कण में

तुम्हारी भक्ति से

जगती है अलख

कुछ करने की

जन जन में

Mata Rani shayari in hindi

Jai mata di status

ai mata di shayari

ai mata di shayari

ai mata di shayari

Jai mata di shayari

माता तेरे चरणों मे
भेंट हम चढ़ाते हैं
कभी नारियल तो
कभी फूल चढ़ाते हैं
और झोलियाँ भर भर के
तेरे दर से लाते हैं

 

बिन बुलाए भी जहां
जाने को जी चाहता है
वो चौखट ही है तेरी माँ
जहां यह बंदा सुकून पाता है

 

माँ जब भी तुझको पुकारा है
बिन मांगे सब पाया है

 

ए माँ मेरी गुनाहों को
मेरे मैं कुबूल करता हूँ
मोक्ष दे दे मेरी माँ
बस यही आशा रखता हूँ

मिलते हैं हज़ारों से
पर एक है जो
हमेशा याद आता है
वो चौखट ही है तेरी माँ
जहां यह बंदा सुकून पाता है

jai mata di shayari in hindi

किस्से कहानी
बन जाएंगे हम भी कभी
रहमत है तेरी माँ
पास होती है तू
तो जीने में जुनून आता है

ज़िन्दगी गर
दोराहे से गुजरती है
वो चौखट ही है तेरी माँ
जहां यह दिल सुकून पाता है

 

सोचा करता था माँ
तेरी कृपा बिना
कैसे ज़रूरते होंगी पूरी

तेरा आशीर्वाद
मिला जो माँ
तो नही रही
कोई हसरत अधूरी

 

हो जाओ तैयार, माँ अम्बे आने वाली है।

सजा लो दरबार माँ अम्बे आने वाली हैं।

तन,मन और जीवन हो जायेगा पावन,

माँ के कदमो की आहट से

गूँज उठेगा आँगन।

Jai mata di

 

Jai mata di quotes

 

मेरे दिल मे आज क्या है
माँ कहो तो मैं सुना दूँ
माँ तुझे देखता रहूं मैं
तेरी सेवा में जीवन बिता दूं
आते जाते जो मिलता है
अपना लगता है
माँ के ख़यालों में रहते हैं जबसे
जीवन स्वर्ग से लगता है

 

 

मुद्दतों से चाहत थी मेरी
तेरे चरणों मे जगह पाने की
मुद्दतों से चाहत थी मेरी
तेरे कदमों में जगह पाने की
कब से चाहत थी मेरी
माँ के गीत गुनगुनाने की

मैं मैं ना रहा
तू तू ना रहा
सब अपने हो गए
माँ की नज़रों में जो देखा
सब सपने सच हो गए

बहुत दूर अभी जाना है
पर चिंता नही चिंतन का
दामन थामा है
क्योंकि माँ ने मेरी
मुझे अपना माना है

 

 

कैसे कहूँ की
जी नहीं सकता
माँ तेरी कृपा बिना
मेरा जीवन जीवन नहीं
माँ तेरी श्रद्धा बिना

jai mata di shayari in hindi

चलो शरण में जगदम्बे की चलते है,

पनाह देगी वो उनको भी

जो पाप की तपन से जलते है।

 

Jai mata di shayari

ना कोई भेंट मांगे तुमसे,

न कोई चढ़ावा,

उसके दमन को बस थाम लो,

जीवन में जब जब ये अवसर है आया।

 

Mata ke charano me
Arpan mere geet
Jisne gaaya inko
Usne paaye apne meet

Jeevan ke utaar chadhaw
se gujarne me
Darr nahi ab lagta
Jai mata di kehate jaao
Har koi apna sa lagne lagta

Jee bhar ke jeene ki tamanna
Poori ho jayegi
Jab hothon pe muskaan sang
Jai mata di ki
Dhun chhid jayegi

आंबे है वो, जगदम्बे है वो,

वो ही सरस्वती और अन्नपुर्णा है।

उसकी शरण में न जाये बिना,

जीवन बस एक तृष्णा है।

Jai mata di

Jai mata di sms

 

नवरात्रे नहीं है ये,
जीवन को पावन करने का
सुनहरा अवसर है,
माँ के चरणों में
जाने को मन आतुर है।

 

 

चाहे हो राजा,या हो रंक ,

बस चले आओ जयकारा लगाते हुए,

अम्बे देती है सबको शरण।

 

jai mata di shayari in hindi

jai mata di shayari in hindi

जननी है वो,

तो वो ही काली

सुनती सबी फरियाद,

दर पे उसके ना रहता

किसी का दामन खाली।

jai mata di shayari in hindi  ,Navratri wishes sms ,
navratri shayari  , bhakti sayari , navratri
wises shayari , happy navratri hindi sms ,
maa dirga ki kripa

मुबारक हो सबको नवरात्रि का पर्व
माता करेंगी सभी के जीवन मे हर्ष

 

आंखे चाहे खोलूं या बंद करूं
हर पल माता तेरा दर्श करूं

jai mata di shayari in hindi

जय माता दी , जय माता दी
करता जाऊं शाम हो या सवेरे
माता तुमने मिटा दिए
सब जीवन के अंधेरे

Jai mata di

रोशनी माँ तेरे प्यार की
पल पल महसूस करूं
तुझसे है आस मेरी माँ
तभी तो
करम करके धीरज धरूं

आजाओ सभी की
आज जगराति है
माँ सुनेंगी हर पुकार
की आज नवरात्रि है

jai mata di shayari in hindi

मां तेरे चरणों मे
जो थोड़ी सी जगह
मिल जाती
मेरे तड़पते मन को भी
थोड़ी राहत हो जाती

 

महफ़िल सजती हैं
चराग़ रोशन होते हैं
हम तेरे बिना
ज़िन्दगी में अधूरे
अधूरे से होते हैं

कैसे कहें माँ
हर पल बस तेरे ही
ख़यालों में डूबे रहते हैं

जीवन की कश्ती
एक तेरे ही भरोसे
हम सागर में तरते हैं

jai mata di shayari in hindi

Mata rani ki jai ho

Sachhe darbar ki jai ho

Jai mata di shayari in hindi

jai mata di shayari in hindi

संभालती भी तुम हो
संवारती भी तुम हो
ज़िन्दगी को मेरी
पटरी पे लाती हो
वो भी मा तुम हो

जीवन को दोराहों से
निकलने वाली
सबकी बिगड़ी
बनाने वाली
जय हो माँ शेरावाली

सुबह सुबह लो माँ का नाम
पूरे होंगे अधूरे बिगड़े काम

 

 

 

 

 

 

 

जब जब याद किया
तुझे ए माँ
तूने आँचल में अपने
आसरा दिया

कलयुगी इस जहां में
एक तूने ही सहारा दिया

—————————————

मैं मेरी माँ
जब भी साथ बैठते हैं

उन पलों को हम
अपने सीने में
सहेजते हैं

————————————–

माँ गौरी की कृपा से
घरवाली बड़ी प्यारी मिली
जैसे जीवन को मेरे
फूलों की क्यारी मिली

———————————-

अच्छा होता कि माँ
के भजनों में
वक्त गुजारते

बेहतर होता कि
जीवन भर बस
माँ को निहारते

Maa teri chaukhat par
Sheesh hum jhukhate hain
Teri rehmat hi hai ki
Hum muskurate hain

Meri maa ko pata hai
Ki mere dil me kaun hai basta
Kyunki uski rehmat ke bina
Rehata hai jan jan tarasta

Zindagi ka kya hai
Hanste khelte gujar jayegi
Jaykara lagate raho
Maa ne chaha to
Moksh yeh rooh paa jayegi

 

Jai mata di status

saphal honge sab kaaj
maan rakhegee hamaaree laaj
vaqt aa gaya hai de de
sapano ko apane naya aagaaz

—————————————-

kah do saare jahaan se
us oonche aasamaan se
ganesha aa rahe hain
ganesha aa rahe hain

————––————-

base ho prabhu tum is
jahaan ke kan kan mein
tumhaaree bhakti se
jagatee hai alakh
kuchh karane kee
jan jan mein

———————–

sambhaalatee bhee tum ho
sanvaaratee bhee tum ho
zindagee ko meree
pataree pe laatee ho
vo bhee ma tum ho

jeevan ko doraahon se
nikalane vaalee
sabakee bigadee
banaane vaalee
jay ho maan sheraavaalee

subah subah lo maan ka naam
poore honge adhoore bigade kaam
Mata ke charano me
Sheesh jhukate hain

Jai mata di status

Navratri ke parv me deep jalaate hain
Mehak ghar sansaar apna aisi ardaas lagaate hain
Mandir mandir ghoom dil me
Bhakti ka bhav jalaate hain
Jeene ke asli rang
Maa ki katha sunke hi aate hain
Man mandir ho jata hai
Jab navratri me maa ko ghar bulaate hain
Kis tarah paawan wo no din ban jaate hain
Kehane ki shabd nahi
Hum maa ke chamatkaar dekh
Bejubaan ho jaate hain

Mazboori ki jholi me
Sone chaandi ke
Ambaar lag jaayenge
Jo laxmi chahega use kuber ke bhandaar mil jayenge
Saraswati vandana karne walo ki kalaa ke deewane Bahutere ho jayenge
Jise pyar chahiye
Uske apne use
Swarg sa ehsaas karayenge
Jo sirf maa ki aas lagaate hain
Maa ki bhakti me
Uske samast paap ghul jayenge