romantic shayari Tag

10 Aug

मैं तुमको चाह कर भी

मैं तुमको चाह कर भी

चाह ना सका

मैं तुमको पा कर भी

पा न सका

अब अंधेरे में तुम्हारी

जुस्तजू की

क्यूँ फिर हमने तुम्हारी आबरू

की कद्र ना की

सब्र कैसे करे की

हम सदमे में हैं

किससे कहें

बेहतर होता की

वक्त पे काबू रख पाते

हम उन पलो के

दाग धो पाते

काश तुम जब भी कही जाती

हम तुम्हारे साथ हो जाते

09 Aug

प्यार तुम्हारा पाया

प्यार तुम्हारा पाया

रोशन हुआ मेरा साया

रात हो या दोपहर

बरसा रही हो

अपने हुस्न का कहर

जिस्म में लगी है आग

तुम्हे छूने भर से

तुम्हे पाने की ख्वाहिश रखते हैं

न जाने कब से

प्यास के अंगारे को और न भडकाओ

तडप रहा हूँ में

मेरी यह आग बुझाओ

आओ जरा पास हमारे

और प्यार की अलख जगाओ

love shayari
08 Aug

आज फिर सवेरा हुआ

आज फिर सवेरा हुआ

लेकिन सुनहरा हुआ

आगोश में तुम्हारे गुजारी थी

जो कल की रात

काश होता तुम्हारा हमारा

पल पल का साथ

रात हो जाती यूँही लिए

हाथों में हाथ

तुम्हारी साँसो में बस जाएँ हम

ये जिन्दगी यूँही गुजर जाये

तो न रहे कोई गम

चाहत से सराबोर हैं

तुम्हरे प्यार में मदहोश है

बहते झरने के मीठे जल

की मीठास लिए

मोहब्बत में अपने होठो को सिए

कुछ कह रही हैं

तुम्हारी खामोशियाँ

जैसे चाह रही है

थोड़ी और नजदिकिया

07 Aug

प्यार में तुम्हारे दीवाने हुए

प्यार में तुम्हारे दीवाने हुए

इस दुनिया में रहने के काबिल हुए

बातो में तुम्हारी शामिल हुए

जैसे खुदा की खिदमत में हाजिर हुए

फिर क्यूँ कहती हो

हम जालिम हुए

बस कुछ पलो के लिय ही सही

आज हम तुममे शामिल हुए

         प्रेम खत

मेरी प्रिय,

मेरी जानेमन यह कोई इतेफ़ाक नही की हम तुम मिले एक दूजे के हुए| यह सृष्टि की ख्वाहिश थी | हर फुल की गुजारिश थी | जिन्दगी तो दो पल की  भागदौड हैं| बस प्यार से तुन्हारे यह जीवन सराबोर है | लिखने की ख्वाहिश भी तुम ही से, कुछ करने की चाहते भी तुम ही से| जिन्दगी यूँही गुजर जायेगी, तुम्हारी जुल्फों की छांव में |

तुम्हारा प्रियतम

05 Aug

आशा को तुम्हारी|

आशा को तुम्हारी

तन्नाओ को हमारी

चाहत को तुम्हारी

कोशिशों को हमारी

मंजिलो के दायरे में खुद को यूँ बांध दिया था

क्यूकि अपनों की खातिर ठानी थी कुछ करने की

फिर अपनों ने ही सवाल किये

अपनों ने ही इलजाम दिए

बेहतरी को उनकी मुकाम समझा था

इस बीच उन्होंने हमें न जाने क्या क्या समझा था

कहते हैं जख्म और जहर हम ही से हैं

उन्हें नहीं पता फ़िकर में उनकी हम कब ही से हैं

कुछ साल गुज़र जाने दो

दौर वो भी जल्द आएगा

जब तुम्हारे दिल में भी बस नाम हमार रह जायेगा

बस नाम हमारा रह जाएगा

21 Jul

काश तुम मुझपे विश्वास कर सकती

काश दिल की बातें दिल में न रहती
काश मेरी ख्वाहिशे बन कागज की कश्ती
यूँ ही दरिया में न बहती
काश मेरे दर्द की कसक
सीने में तेरे न चुभती
काश मेरे आँखों की नमी
तेरी आँखों में न उतरती
काश की तुम उस पल को मेरे
आस-पास ही होती
काश मेरी शामें
यूँ तनहा तनहा सी न होती
काश की तुम हालातों को मेरे
यूँ दरकिनार न करती

01 Jul

Best short hindi poems

Best short hindi poems , Long hindi poems , good poems in hindi ,  romantic love Poems in hindi , short hindi poems on life , sms hindi love shayari romantic ,

Shayari hindi me , nice love shayari in hindi , what is love in hindi shayari , shayari related to love

Good Poems  in Hindi

अब हार पे मुस्कुराना भी आ जायेगा
तेरे प्यार में रहे तो खिलखिलाना भी आ जायेगा
मुश्किलो से भला हम क्यु डरें
तेरा साथ मिला है जब से
आँखोंमें नए नए सपने से हैं भरे
आसान हो गया है अब जीना
वो वक़्त पीछे छूटा
जब रखना होता था होठों को सीना
अब गुनगुनाने में दिल बहल जाता है
तुम पास हो ना हो
जिक्र तुम्हार खुद ही से हो जाता है
तेरे आने की दस्तक सुनते ही
दिन कब कैसे
इंतज़ार में तुम्हारे
हाथों से फिसल सा जाता है
अब तो तुमसे मिलके ही
यह दिल सुकून को पाता है
कई दफा तनहा रातों में
तुम्हारी हसरत में
यह मन मचल भी जाता है
अब तो बहती हवाओं की धुन में भी
नाम तुम्हारा ही सुनने को
जी चाहता है

Best Short Hindi Poems

भूला ना देना उन वादों को
उन कसमों को जानम
जब प्यार में थे हम हमदम-2
भुला न देना उन यादों को
उन बातों को जानम
जब साथ चले हम हमदम-2
जिस्म में ऐसी आग लगी थी
बिखरे-बिखरे थे हम
तेरे साथ ने बदला जीवन -2
सागर की लहरों से पूछो
सुना था मेरा जीवन
जब साथ नहीं थे हम तुम-2
जीवन कि बगिया में देखो
बिखर रहे कितने हि रंग
क्यूंकि साथ में है हम हमदम-2

Good poems in hindi

 

हम तेरी ही बातें करते हैं
वक़्त जेसा कहाँ कोई होता है
हम तेरे लिए आहेंभाते हैं
जिंदगी कि कहानी याद नहीं-2
हम तेरा पता पूछा करते हैं
जीवन में भला कब कौन मिले-२
ये कौन किसे बतलाएगा
पर मुझसे जो पूछा वक़्त ने कभी
हम तेरी वफा को याद करें
हर पल बस तेरी फरियाद करें
वक़्त पे यकीन हैं मुझको
एक वक़्त भी एसा आएगा
जब पल पल तेरा हो जाएगा
में मेरा कहीं खो जाएगा
और तुझसे कहीं गुल जाएगा-2

Best short hindi poems

रिश्तेनाते मिटटी में मिल जाए
भाई – भाई के काम न आये
जल्लादों के हाथों हो देश की सत्ता
न मिल फूल न पत्ता
समझने जरुरी हैं ,कुदरत के कायदे
मज़ा जिन्दगी में है ,
जब समझे रिश्तो के मायने

 Short Hindi Poems on life

कहानी बड़ी अजीब सी लिखी नसीब की ,
जिस धरा की खाते थे रोटी |
उसी पे हुयी तेरी नीयत खोटी |
जिस माँ के हाथों में था चूरमा तेरे वास्ते|
उस माँ को मिली सुखी रोटी तेरे रास्ते |
उसके प्यार को भूल कोई बात नहीं |
उसकी हर इक बात को भूल कोई बात नहीं |
तुझे उसकी जरा भी याद न आई |
क्यों तूने माँ की अस्ति गंगा में ना बहाई ?

Short hindi Poems on life

आँखे बंद जो करता तो चेहरा तेरा दिखता|
सपनो के गुलिस्तान में नया फूल तो खिलता|
जिन्दगी को रोशन करता धुप में जब घिरता |
टप टप पानी पसीना बना
अपने दोषों को चीरता |
हिम्मत और लगन के साथ
खुद को तनहा ही रखता |
विश्वास की डोर के सहारे डर को दूर भगाता |
मेरी माँ जो तू न होती तो
मिटटी को सोना कैसे बनाता |

 

Best short hindi poems , Long hindi poems , good poems in hindi ,  romantic love Poems in hindi , short hindi poems on life , sms hindi love shayari romantic ,

Shayari hindi me , nice love shayari in hindi , what is love in hindi shayari , shayari related to love

sanam teri kasam shayari
26 Jun

हर पल में

तुम्हे शामिल करने की
आरजू रखते हैं
हो कहीं भी
पर तेरी गुज़ारिश करते हैं
इंतजार एस दफा
दर्द से बेचेंन कर रहा
हम अब हर पल
तेरी ख्वाहिश रखते हैं
कल्पना करना भी मुश्किल है
हर रोज उस खुदा से
तेरी खेरियत कि दुआ करते हैं

bahut pyar karte hain shayari
26 Jun

बाँहों में तेरी

आने की ख्वाहिश
हमारे दिल में है
होठों से तेरे
दो लफ्ज प्यार के
सुनने कि आरजू
हमारे सीने में है
आँखों में तेरी
काजल बन छुप जाने
कि हसरत जाने कब से
हमारे दिल में है
तुम्हारी खूबसूरती को
जीने कि चाहत लिए
आज हम फिर तेरी
महफिल में हैं

mohhabbat shayari hindi me
26 Jun

खूबसूरती को तुम्हारी

हम कुछ यूँ जि जाएँगे
जीवन में तुम्हारे
हम बहार बन छाएंगे
सपनों में तुम्हारे
हम रोज आएँगे
चाहत में तुम्हारी
तुम्ही से कहाल्वाएंगें
जो यह न हो सका हमसे
हम तेरे प्यार में
खुद हि को भूल जजाएंगे